कश्मीरी लड़कियां क्यों इतनी खूबसूरत होती हैं, ये हैं इनके ब्यूटी सीक्रेट्स

कश्मीर को धरती का स्वर्ग कहा जाता है। यहां जर्रे जर्रे में खूबसूरती समाई है। कश्मीर की हवाओं और वादियों में खूबसूरती तैरती रहती है। कश्मीरी लड़कियों की खूबसूरती भी किसी से छिपी नहीं है। इनकी खूबसूरती देखते ही बनती है। ऐसा कहा जाता है कि इनकी खूबसूरती के पीछे यहां कि भौगोलिक और जेनेटिक परिस्थियां है। वहीं कश्मीरी लड़कियां नैचुरल चीज़ों के जरिये अपने चेहरे की खूबसूरती को मेंटेन करती हैं। अपने फिगर को मेंटेन करने के लिए वे अपनी डाइट में कई चीज़ें शामिल करती है। तो आइये जानते हैं कश्मीरी लड़कियों की खूबसूरती के 7 सीक्रेट्स –

केसर का फेस पैक


स्पेन की केसर के बाद कश्मीरी केसर दुनिया भर में प्रसिद्ध है। यहां बेहतरीन क्वालिटी की केसर मिलती है। केसर स्कीन की रंगत निखारने का काम करती। यह ग्लो को बढ़ाता है। कश्मीरी लड़कियां अपनी खूबसूरती को बढ़ाने के लिए चंदन पाउडर और केसर को दूध के साथ मिलाकर पेस्ट बनाती है, जो स्किन को ग्लोइंग बनाने में मदद करता है।

मलाई और बेसन का उपयोग

कश्मीरी लड़कियां अपनी स्कीन पर मलाई और बेसन से बना पेस्ट लगाती है। इससे स्किन का ग्लो बढ़ता और सांवलेपन से निजात मिलती है। वे हफ्ते में दो तीन बार इसका इस्तेमाल करती है।

अखरोट का उपयोग

कश्मीर में सेब और केसर के अलावा अखरोट प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। अखरोट में ओमेगा-3, ओमेगा-6, ओमेगा-9 समेत अन्य फैटी एसिड्स पाए जाते हैं। कश्मीरी लड़कियों के अखरोट खाने से उनके बाल काले और घने होते हैं। इससे उनके चेहरे पर बढ़ती उम्र का असर भी नज़र नहीं आता और कुदरती निखार मिलता है।

बादाम का उपयोग

अखरोट का तेल

कश्मीरी लड़कियां अपने बालों में अखरोट का तेल लगाती है। जिससे उनके बाल घने होते हैं। वहीं झड़ते बालों से भी उन्हें निजात मिलती है। इस वजह से ही कश्मीरी लड़कियों के बाल घने और काले होते हैं।

हरी सब्जियां


ये अपनी डाइट में हरी सब्जियों का उपयोग भी भरपूर करती है। इस वजह से इनका वजन मेंटेन रहता है। नॉनवेज भी ये हरी सब्जियों के साथ मिक्स करके बनाती है।

दूध का उपयोग

यहाँ की लड़कियां दूध और दूध से बनी चीज़ों का उपयोग करती है। जो कि इनकी खूबसूरती में चार चाँद लगा देती है। ये पनीर का खासतौर पर इस्तेमाल करती है।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *